पेट की गैस का तुरंत इलाज क्या है? (Pet ki gas ka turant ilaj)

Pet Ki Gas Ka Turant Ilaj Kare - Kaahan Ayurveda

पेट की गैस का तुरंत इलाज क्या है? (Pet ki gas ka turant ilaj)

पेट में गैस हो तो क्या करें? (Pet ki gas ho to kya kare?)

Pet Me Gas Hone Par Kya Kare - Kaahan Ayurveda
Pet Me Gas Hone Par Kya Kare – Kaahan Ayurveda

आज पेट से जुड़ी समस्या बच्चों से लेकर बड़ों को भी बनी रहती है।

पेट में गैस बनना (pet ki gas), कब्ज, अपच जैसी समस्याएं जैसे आम होती जाती रही हैं।

शादी विवाह में कुछ भी खाने से पहले सोचना पड़ता है कि

कहीं पेट सें संबंधित कोई समस्या ना उत्पन्न हो जाये।

कई लोग स्वाद के चक्कर में खा तो लेते हैं। पर भोजन को पचा नहीं पाते।

ऐसे में कब्ज (constipation), एसिडिटी (acidity),

पेट फूलना, पेट में भारीपन, गैस बनना जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

आप यह हिंदी लेख KaahanAyurveda.com पर पढ़ रहे हैं..

अपच की समस्या क्या है? (Apach ki samasya kya hai?)

Apach Ki Samasya Kya Hai - Kaahan Ayurveda
Apach Ki Samasya Kya Hai – Kaahan Ayurveda

भोजन करने के बाद खाया-पिया सही से ना पचना।

पेट के ऊपरी हिस्से में भारीपन महसूस होना।

जिसके कारण सीने में जलन, खट्टी डकार, कब्ज, एसिडिटी जैसी समस्या होने लगती है।

इसे ही अपच की समस्या कहते हैं।

इस समस्या का सामना लगभगर हर व्यक्ति करता ही है।

इसे पेट की गड़बड़ी की समस्या भी कहते हैं।

गैस और अपच के कारण (Gas or apach ke karan)

Pet Me Gas Or Apach Ke Karan
Pet Me Gas Or Apach Ke Karan

कोई भी स्वास्थ्य संबंधित समस्या हो, उसके पीछे कारण जरूर होते हैं।

ऐसे ही पेट से जुड़ी समस्या के पीछे भी कई कारण हो सकते हैं। जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं।

खराब जीवन शैली

कई लोग बड़ी आरामदायक जीवन शैली जीते हैं। ना समय पर सोना और ना ही समय पर जागना। बाहर कर जंक फूड, फास्ट फूड आदि का अधिक सेवन करना। कई लोग तो लेटे-लेटे ही खाने लगते हैं। पीने लगते हैं। ऐसे में ना तो भोजन सही से पचता है और ना ही शरीर को लगता है।

बिना चबाये भोजन करना

कई लोग बहुत जल्दी-जल्दी खाना खाते हैं। जिसके कारण वे भोजन को अच्छे से नहीं चबाते। सीधे ही निगल जाते हैं और ऊपर से पानी पीते रहते हैं। ऐसा करने से भोजन पेट में ही रहता है। सही से पचता नहीं है। जब ये भोजन पेट में ही सड़ने लगता है, तो एसिडिटी, जलन व अपच जैसी समस्या होने लगती है।

अत्यधिक तनाव

बहुत ज्यादा मानसिक चिंता के कारण भी अपच जैसी समस्या होने लगती है। तनाव के कारण शरीर में एंजाइम (enzyme) बनना कम होता है। जोकि एक प्रकार की लार होती है। ये लार भोजन को पचाने में मदद करती है। जब ये लार बनना बंद हो जाती है, तो भोजन को पचने में परेशानी होने लगती है। इसी कारण से पेट में गैस, अपच की समस्या शुरू होने लगती है।

नशाखोरी करना

किसी भी प्रकार का नशा जैसे- शराब, धूम्रपान, बीड़ी, सिगरेट, तंबाकू इत्यादि का सेवन करना अपच और गैस के लिए मुख्य रूप से जिम्मेदार होते हैं।

व्यायाम ना करना

कई लोग भोजन करते ही बिस्तर पर पसर जाते हैं। ऐसा करने से पाचन तंत्र सुस्त हो जाता है। हमेशा भोजन करने के आधा घंटा टहलना चाहिए। सुबह और शाम को एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए। ऐसा करने से पाचन तंत्र सही रहता है। खाया-पिया पचता है। अपच, गैस, एसिडिटी की समस्या दूर रहती है।

पेट की गैस ठीक करने का घरेलू उपाय (Pet ki gas thik karne ka gharelu upay)

कई बार इलाज घर की रसोई में ही उपलब्ध होता है। लेकिन हम बाहर ढूंढते रहते हैं। ऐसे ही पेट में गैस के लिए घरेलू उपाय आपकी रसोई में मौजूद है। आप आधा कप गुनगुना पानी लें। इसमें आधा चम्मच नींबू निचौड़ें। यानी आधा नींबू का रस आपको इस पानी में मिलाना है। इसके बाद एक चौथाई चम्मच बेकिंग सोडा भी आपको इसमें अच्छे से मिला लेना है।

इस पानी को पीते ही 2 से 3 मिनट के अंदर ही पेट की गैस तूफान की तरह बाहर निकल जायेगी। पेट का भारीपन पूरी तरह ठीक हो जायेगा। पेट में बेचैनी महसूस होना ठीक हो जायेगा। अधिक खान के बाद जो डकार आना बंद हो गया था, वो आना शुरू हो जायेगा। गैस पास होना शुरू हो जायेगा।

यह भी पढ़ें- महिलाओं के लिए सबसे अच्छा टॉनिक कौन सा है?

अपच और कब्ज के लिए आयुर्वेदिक दवा बतायें (Apach or kabj ki ayurvedic dawa)

Pet Ki Rog Partirodhan Shamtha Ko Badhane ki Herbal Dawa - EnzymeLar
Pet Ki Rog Partirodhan Shamtha Ko Badhane ki Herbal Dawa – EnzymeLar

आप पेट के संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेदिक सिरप एंजाइमलर (Enzymelar) का सेवन करें। यह एक आयुर्वेदिक टॉनिक (herbal tonic) है। पूरी तरह आयुर्वेदिक है। इसमें मौजूद प्राकृतिक जड़ी-बूटियों की शक्तियाँ आपके पेट को एकदम स्वस्थ रखने में बहुत मदद करती हैं। पेट में गैस बनना। अपच की समस्या। कब्ज व एसिडिटी। खट्टी डकारें आना, मिचली आना। उल्टी, उबकाई आदि समस्याओं में रामबाण की तरह काम करती हैं।

आप इस दवा (आयुर्वेदिक सिरप एंजाइमलर) को 9999664344 पर कॉल करके घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं। आप भारत के किसी भी कोने में रहते हों। वहां आपको यह दवा उपलब्ध करा दी जायेगी। बिना कोई अतिरिक्त शुल्क लिए। आपको केवल दवा के ही पैसे देने होंगे।

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Open chat
1
काहन आयुर्वेदा - प्रकृति का वरदान
नमस्कार! आपकी क्या सहायता कर सकते हैं?