शराब छुड़ाने के घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय | Sharab Chhudane ke Gharelu aur Ayurvedic Upay in Hindi

Kaahan Ayurveda - Sharab Kaise Chudaye

शराब छुड़ाने के घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय | Sharab Chhudane ke Gharelu aur Ayurvedic Upay in Hindi

शराब की लत छुड़ाने के उपाय (Sharab ki lat chhurane ke upay)

इस हिंदी लेख में हम आपको शराब / Sharab की लत से छुटकारा कैसे पायें? इसका घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय दोनों बताने वाले है, क्योंकि हम समझ सकते हैं कि आप अपने घर में किसी न किसी सदस्य की Sharab की आदत से परेशान हैं और कोशिश कर रहे हैं कि शराब की आदत छूट जाये, पर शराब की लत है कि आपकी जिंदगी से जाने का नाम नहीं ले रही है।

जब घर का मुखिया ही शराब की लत का शिकार हो जाये, तो उस घर का क्या हश्र होता है इसका दर्द आपसे बेहतर कोई नहीं समझ सकता। तो आज हम आपको शराब छुड़ाने का एक ऐसा आसान घरेलू तरीका बताने वाले हैं, जिसकी मदद से आप शराब की आदत से 100 परसेन्ट छुटकारा पा लेंगे।

सबसे पहले हम आपको बतायेंगे चार चीजों के बारे में शराब की आदत के लक्षण क्या होते हैं, दूसरा किन कारणों से शराब की आदत पड़ जाती है, तीसरा आप चाहकर भी शराब की आदत को छोड़ क्यों नहीं पा रहे हैं, और आखिर में शराब को छोड़ने के लिए क्या करना है?

आप यह हिंदी लेख kaahanayurveda.com पर पढ़ रहे हैं…

शराब की लत के लक्षण

लक्षण की बात करें तो ये दो तरह के लक्षण होते हैं- (1.) शारीरिक (2.) मानसिक।

शारीरिक लक्षण

शराबी व्यक्ति की चालढाल में फरक आ जाता है, जैसे कि लडखड़ाकर चलना, कोई सुध ही ना होना। आंखें भी यहां-वहां चढ़ी रहती हैं।

मानसिक लक्षण

मानसिक लक्षण में ये सीधा दिमाग पर हावी होती है। शराबी की भले ही आज शराब मिल जाये, लेकिन वो उसमें ही संतुष्ट नहीं होता, बल्कि ये सोचकर परेशान होने लगता है कि कल कैसे शराब मिलेगी? उन्हें लगता है कल शराब नहीं मिली, तो दुनिया ही खत्म हो जायेगी। मैं पागल हो जाऊंगा। कोई भी बात मिनटों में भूल जाते हैं, अपनी ही कही हुई बात याद नहीं रहती। चिड़चिड़ापन आ जाता है, घर में चीख-चीखकर बातें करना, बीवी और बच्चों के साथ मारपीट करना ये सब मानसिक लक्षण हैं।

दारू की आदत के कारण

कोई भी व्यक्ति जब अपने जीवन में पहली बार शराब को मुंह लगाता है, तो वह कभी खुद अपनी जेब से पैसा खर्च करके शराब नहीं लाता। हमेशा यार दोस्तों की महफिल में ही वह पीना सीखता है। पहली बार पीते हुए वह ऐसा नहीं सोचता कि वो इसे आदत बनाना चाहता है। उसके मन में तो यही रहता है कि बस आज पहली और आखिर बार सिर्फ टेस्ट कर लेता हूं। फिर अगली बार जब दोबारा महफिल में बैठता है तो यार दोस्त कहते हैं भाई उस दिन भी तुमने पी थी, तो फिर आज क्या हो गया और आप शराब की लत के शिकार हो जाते हो।

क्यों नहीं छूट रही है दारू की आदत?

शराब छुड़ाने का घरेलू उपाय
शराब छुड़ाने का घरेलू उपाय

शराबी चाहकर भी खुद से शराब क्यों नहीं छोड़ पाता? तो इसका कारण है सल्फर की कमी। क्योंकि ज्यादा शराब पीने से शरीर में सल्फर की कमी हो जाती है। दरअसल हमारी बॉडी में बहुत से तत्व होते हैं, जिनमें से सल्फर भी एक है। सल्फर की कमी होने के कारण ही आपकी इच्छा शक्ति कमजोर पड़ जाती है और आपको वो सब दिक्कतें आने लगती हैं जिसका हम अभी पहले लक्षणों में जिक्र कर चुके हैं।

शराब छुड़ाने का घरेलू उपाय

बॉडी में सल्फर की मात्रा कैस बढ़ायें, तो इसके लिए हम आपको एकमद रामबाण घरेलू उपचार बता रहे हैं।

  • आप अदरक लें। अदरक में बहुत ही भारी मात्रा में सल्फर होता है।
  • लेने का तरीका ये है कि आप एक अदरक लेकर इसके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें और इनमें ऊपर से नींबू निचोड़ कर इन्हें सुखा लें।
  • अच्छे से सूख जाने के बाद आप इन टुकड़ों को किसी साफ पुड़िया में भरकर अपनी जेब में संभाल कर रख लें।
  • सारा दिन आपको इसे अपनी जेब में ही रखना है।
  • अब करना ये है आपको कि जब भी शराब पीने की इच्छा जोर मारने लगे, तुरन्त एक टुकड़ा निकाल कर मुंह में डाल लें और चबाकर इसका रस चूसें।
  • उसी समय आपकी पीने की इच्छा मर जायेगी।

10 से 15 दिन तक ऐसा करने से आपको रिजल्ट खुद देखने को मिल जायेगा। यह नुस्खा बीड़ी, सिगरेट तम्बाकू में भी बहुत असरदार है।

शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा

उपरोक्त बताया गया शराब छोड़ने का घरेलू उपाय उनके तो एकदम बेहतर है, जो खुद से शराब छोड़ना चाहते हैं। लेकिन जो व्यक्ति शराब नहीं छोड़ना चाहता, तो उसकी शराब की लत कैसे छुड़ायें?

तो उनके लिए एकदम नेचुरल प्योर हर्बल यानी आयुर्वेदिक उपाय मैं हम आपको बता रहे हैं। हम पूरी गारन्टी के साथ कहते हैं कि आपके घर का कोई भी सदस्य, चाहे वो 15-20 साल से शराब क्यों ना पी रहा हो, इस आयुर्वेदिक उपाय से 10 से 15 दिन में ही शराब से पूरी तरह तौबा कर लेगा। शराब को देखकर ही उसे उल्टी आने लगेगी।

यह आयुर्वेदिक दवा है – एडिक्ट रिड। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। इस नेचुरल पाउडर को एक चम्मच या फिर अधिक उम्र का है, तो दो चम्मच की मात्रा में चुपके से उसके खाने की चीज में, या पीने की चीज में मिलाकर दे दें। इसकी ना ता कोई गंध है और ना ही कोई ऐसा खराब स्वाद है कि शराबी को पता चल जायेगा कि उसे कुछ दिया जा रहा है।

लगातार इस हर्बल दवा को आप देते रहें 10 से 15 दिन में आप खुद चौंक जायेंगे और ऊपर वाले का धन्यवाद करेंगे कि आपकी घर की खुशियां लौट रही हैं। शराबी शराब के चंगुल से पूरी तरह छूट जायेगा।

आयुर्वेदिक दवा है – एडिक्ट रिड। Addict Rid Medicine for Avoid drinking

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
काहन आयुर्वेदा - प्रकृति का वरदान
नमस्कार! आपकी क्या सहायता कर सकते हैं?